यदि आप तनाव लेना पसंद नहीं करते है तो आप शेयर बाजार से हमेशा दूर ही रहें।

शेयर बाजार में जोखिम तब है जब आपको पता ही नही है की आप शेयर बाजार में क्या कर रहे है। अगर पता है तो जोखिम शून्य है।

शेयर बाजार में अगर आपको किसी शेयर पर अगले 10 सालो का भरोसा नहीं है तो उसे अपने पास 10 मिनट के लिए भी न रखे।

कभी शेयर बाजार में दुसरो के कहने पर निवेश ना करे, बल्कि खुद सीखे की शेयर बाजार में निवेश कैसे करते है।

शेयर बाजार में जो हारता है वही जीत का नया रास्ता जनता है। क्योकि जीत हार के अनुभव से आती है।

अक्सर शेयर बाजार में तूफान के बाद ही पता चलता है की किसकी छत में सबसे ज्यादा दम है।

शेयर बाजार में धीरे-धीरे निवेश करने वाला, सूझ-बूझ से निवेश करने वाला ही पैसा कमाता है।

अगर कोई आज पेड़ की छाया में बैठा है तो इस वजह से कि किसी ने बहुत समय पहले यह पेड़ लगाया होगा।

कभी भी एकल आय पर निर्भर न रहे। आय के दूसरे स्रोत बनाने के लिए अलग अलग जगह निवेश करें।

बाजार के उतार-चढ़ाव को अपना मित्र समझिये, दूसरो की मूर्खता से लाभ उठाइये, उसका हिस्सा मत बनिये