किसी की मजबूरी का मजाक ना बनाओ यारों, जिन्दगी कभी मौका देती है तो कभी धोखा भी देती है.

नफरतें बेचने वालों की भी मजबूरी है, माल तो चाहिए दुकान चलाने के लिए. 

मुलाकातें तो आज भी हो जाती है तुमसे, मेरे ख्याल किसी मजबूरी के मोहताज नहीं. 

मैं रहूँ या ना रहूँ, तेरा रहना जरूरी है, मेरे कहने से कुछ नहीं होगा, जान तुझे अनजान कहना मजबूरी है.  

अगर तेरी मजबूरी है भूल जाने की, तो मेरी आदत है तुझे याद रखने की. 

मैं मजबूरियां ओढ़ कर निकलता हूँ घर से आज कल, वरना शौक तो आज भी है बारिशों में भीगने का. 

मजबूरी में जब जुदा होता है, ज़रूरी नहीं के वो बेवफा होता है, दे कर वो आपकी आँखों में आँसू, अकेले में आपसे भी ज्यादा रोता है.

जो लोग आपकी मजबूरी को समझते है, वही आपके मजबूरी का फायदा उठाते है. 

वो मजबूरियों से घिरा है, वो मजबूर बहुत है, वो डरता नहीं मोहब्बत से इसलिए मशहूर बहुत है.